spot_img

बेतिया : कृमि मुक्त जिला बनाने की हुई शुरुआत, बांटी जाएगी 23 लाख से ज्यादा गोलियां 

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

बेतिया। समग्र स्वास्थ्य व बेहतर पोषण के लिए जिले में बेतिया शहर स्थित बिपिन उच्च विद्यालय से सोमवार को एसीएमओ डॉ रमेश चंद्र  ने राष्ट्रीय कृमि मुक्त दिवस का उद्घाटन किया। मौके पर एसीएमओ ने 643 छात्राओं को अपने सामने एल्बेंडाजोल की गोल खिलावाई। साथ ही छात्रों को बिस्किट और चॉकलेट भी खिलाया गया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक वर्ष पश्चिम चंपारण जिला ने राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर बेहतर प्रदर्शन किया है। उम्मीद है कि इस वर्ष भी यह जिला अपने शत प्रतिशत लक्ष्य को हासिल कर ले। उद्घाटन समारोह में मौजूद जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी सह नोडल डॉ अवधेश कुमार सिंह ने कहा कि यह दिवस एक महाअभियान की तरह है। जिसमें पूरे जिले में एक से 19 उम्र वर्ग के लोगों को 23 लाख 66 हजार 2 सौ 56 गोलियां खिलाई जाएगी।

हर बार जिले ने पहले से किया है बेहतर

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ अवधेश कुमार सिंह ने बताया कि जिले ने राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के लक्ष्य को हासिल करने में हर बार पहले से बेहतर किया है। इस बार हमें शत प्रतिशत लक्ष्य को हासिल करना है। सोमवार को जो अलवेडाजोल की गोली नहीं खा पाएगें वह 11 तारीख को होने वाले मॉप-अप राउंड में गोली खा सकेगें।

शिक्षा तथा आईसीडीएस को मिली है अहम जिम्मेवारी

डीसीएम राजेश कुमार ने कहा कि गोली खिलाने के लिए जो उपर्युक्त उम्र सीमा है वह या तो स्कूलों या आंगनबाड़ी केंद्रों में हैं। इसलिए शिक्षा विभाग तथा आईसीडीएस की भूमिका यहां महत्वपूर्ण हो जाती है। इसके अलावा आशा भी अपने क्षेत्र के अंतर्गत लाभुक उम्र के लोगों को गोली खिलाएगी। इस बार जिले के 2851 सरकारी विद्यालयों एवम 699 प्राइवेट विद्यालयों को कुल 1752051 तथा  3244 आंगनबाड़ी केंद्रों में 614295 गोलियां वितरित की गई हैं। मौके पर एसीएमओ डॉ रमेश चंद्र, सीडीओ डॉ टी एन प्रसाद, डीआईओ डॉ अवधेश कुमार सिंह, डीसीएम राजेश कुमार, केयर डीटीओ ऑन विजय पाण्डे, अकांक्षा कुमारी, पीएसआई के प्रेमा साहित अन्य स्वास्थ्य कर्मी व प्रधानाध्यापक मौजुद थे।

कृमि संचरण को विभिन्न तरीकों से रोका जा सकता है

-साफ़ शौचालय का उपयोग करना, बाहर शौच न करना।

- Advertisement -

-हाथ धोना, विशेषकर खाने से पहले और शौचालय के बाद हाथ धोना।

-चप्पल और जूते पहनना।

-स्वच्छ एवं सुरक्षित पानी से फल एवं सब्जियां धोना।

-भली-भांति पका भोजन खाना।

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

संबंधित खबरें