spot_img

बक्सर का लिंगानुपात कम बीएलओ को दिया गया टास्क, जिले में एक हजार पुरुषों पर 897 महिला वोटर प्रति हजार पर,

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

बक्सर : चार विधानसभा क्षेत्रों में 617003 महिला मतदाता है। 1000 पुरुषों पर 922 महिलाएं बक्सर में जनसंख्या के आधार पर हैं। सभी मतदान केंद्रों पर लिंग अनुपात बढ़ाने एवं नाम जोड़ने का चला अभियान। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर बक्सर में मतदाता सूची के प्रकाशन के बाद जिला प्रशासन ने अपनी पूरी ताकत लिंगानुपात को सुधारने पर केंद्रित किया है स्वीप कार्यक्रम के तहत मतदाताओं को जागरुक भी किया जा रहा है। इसी कड़ी में दिसंबर माह में शनिवार एवं रविवार को विशेष शिविर का आयोजन किया गया। बक्सर जिले में एक हजार पुरुषों पर 897 महिला मतदाता है जबकि यहां जनसंख्या के आधार पर एक हजार पुरुष पर 922 महिला है इस आंकड़े पर ध्यान दिया जाए तो प्रति हजार पर 78 महिला वोटर कम है।

इस लिंगानुपात को बराबर करने के लिए जिला निर्वाचन शाखा ने अपना अभियान तेज कर दिया है उप निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि बक्सर जिले के 4 विधानसभा क्षेत्रों में चिन्हित लिंगानुपात में वृद्धि करने के लिए क्षेत्र भ्रमण एवं आवश्यक करवाई किया जाएगा।जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी बक्सर ने सभी बीएलओ एवं संबंधित पदाधिकारियों से कहा कि बक्सर जिले में लिंग अनुपात 922 है जबकि मतदाता सूची का लिंगानुपात 897 है इससे स्पष्ट होता है कि महिलाओं का निर्वाचक सूची में अनुपातिक रुप से नाम दर्ज नहीं है। सभी निर्वाचक निबंधन पदाधिकारियों एवं सहायक निर्वाचक निबंधन पदाधिकारियों को विधानसभा वार सर्वाधिक कम लिंगानुपात वाले मतदान केंद्रों को चिन्हित लिंगानुपात में वृद्धि करने के लिए क्षेत्र भ्रमण एवं आवश्यक कार्रवाई करने को कहा।

उप निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि मतदाताओं से जिला पदाधिकारी महोदय ने अपील की थी कि वह विशेष अभियान दिवस में शामिल होकर मतदाता सूची में नया नाम शामिल करा सकते हैं अथवा नाम विलुप्त करा सकते हैं। विशेष अभियान दिवस पर जिले के सभी बूथों पर बीएलओ को उपस्थित रहने का निर्देश दिया गया था सभी राजनीतिक दलों को भी बीएलए यानी बूथ लेवल एजेंट नियुक्त करने का भी आग्रह किया गया था। अभियान दिवस को सफल बनाने के लिए जिला पदाधिकारी महोदय ने विशेष अभियान दिवस के अवसर पर निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी को कम से कम पांच एवं सहायक निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी को कम से कम 10 मतदान केंद्रों पर भ्रमण करने को कहा था। उप निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि मतदाता सूची के संक्षिप्त पुनरीक्षण में महिला मतदाताओं का लिंग अनुपात बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है।

रविवार को उप निर्वाचन पदाधिकारी एवं बक्सर सदर अवर निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया गया निरीक्षण के क्रम में कई मतदान केंद्रों पर बीएलओ नदारद मिले एवं कई मतदान केंद्रों पर बीएलओ थे पर स्कूल एवं कॉलेज प्रशासन के द्वारा गेट नहीं खोलने पर वे गेट के बाहर ही खड़े थे कोई महिला बीएलओ को काफी कठिनाई हुई जिसके आलोक में उप निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा सख्त एवं कठोर निर्देश दिया गया कि जो भी बीएलओ मतदान केंद्रों पर उपस्थित नहीं थे उनका स्पष्टीकरण किया जाएगा एवं कॉलेज प्रशासन द्वारा गेट बंद रखने पर वहां के प्राचार्य पर भी कठोर कार्रवाई की जाएगी।

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

संबंधित खबरें