शिक्षकों के अधिकार से खिलवाड़ करना संविधान को खुली चुनौती, अनिश्चितकालीन आमरण अनशन दूसरे दिन भी जारी

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

बक्सर : एरियर भुगतान सहित तीन सूत्री माँगों के समर्थन में शिक्षकों द्वारा अनिश्चितकालीन आमरण अनशन शनिवार को शुरू किया गया । यह अनिश्चितकालीन आमरण अनशन दूसरे दिन भी जारी रहा । दूसरे दिन कार्यक्रम की अध्यक्षता अमितेश कुमार तथा संचालन द्वय शिक्षकों ब्रजभूषण सिंह तथा जयप्रकाश शर्मा द्वारा किया गया ।

अनिश्चितकालीन आमरण अनशन शिक्षक संघर्ष मोर्चा बक्सर के अध्यक्ष मुक्तेश्वर प्रसाद तथा एनआईओएस प्रशिक्षित शिक्षक कमलेश प्रसाद यादव के संयुक्त तत्वावधान में शुरू किया गया है । अधिकारियों की उदासीनता पर बोलते हुए शिक्षक संघर्ष मोर्चा बक्सर के अध्यक्ष मुक्तेश्वर प्रसाद ने बताया कि शिक्षकों को मरने के लिए छोड़ दिया गया है ।

सुरक्षा तथा चिकित्सा की कोई व्यवस्था नहीं की गई है । ऐसे में शिक्षकों के साथ रात में कोई भी अनहोनी घटना घट सकती है ।विदित हो कि अनशनकारी शिक्षक द्वारा अन्न जल त्यागने की बात दुहराई गई । मौसम को देखते हुए कहा जा सकता है कि बिना अन्न जल के रहने पर स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है । कोई अनहोनी घटना घट जाय इससे इंकार नहीं किया जा सकता है ।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे अमितेश कुमार के अलावा जयप्रकाश शर्मा कमलेश प्रसाद यादव सुधीर कुमार पाठक संतोष सिंह ने बताया कि बक्सर में अधिकारियों की मनमानी चरम पर है । दलाल प्रवृत्ति के लोगों की दुकान बंद होती दिख रही है इसलिए अधिकारी को दिग्भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं । यद्यपि अधिकारी सकारात्मक विचारधारा के हैं । माँग पूर्ति नहीं होने पर आंदोलन जारी रहेगा चाहे इसके लिए कोई कुर्बानी देनी पड़े ।

- Advertisement -

दूसरे दिन संजय कुमार, श्याम किशोर, अनिल यादव, गुड्डू मंसूरी, परवेज आलम, आशुतोष उपाध्याय, रवि कुमार मौर्य, शिवगोपाल, अवधेश पासवान, जयप्रकाश शर्मा, अजीत कुमार सिंह, पप्पू कुमार, सुधीर पाठक, सत्येन्द्र कुमार, मुकेश कुमार, सत्येन्द्र बिन्द, सत्येन्द्र कुमार सिंह, विवेक श्रीवास्तव, सुनील कुमार सिंह, विनीत मोदनवाल, अमरदीप ठाकुर सहित अनेकों शिक्षक आंदोलन में उपस्थित रहे ।

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

spot_img

संबंधित खबरें