नेक कार्य के लिए सक्षम लोगों को आगे आकर करनी चाहिए मदद : विधायक

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

बक्सर | राष्ट्रीय टीबी उन्मूलन कार्यक्रम के तहत जिले में टीबी मरीजों की सहायता के लिए जिला यक्ष्मा केंद्र लोगों को निक्षय मित्र बनाने की तैयारी में जुट गया है। इस दिशा में पहल करते हुए जिले के ब्रह्मपुर विधानसभा के विधायक शंभू नाथ यादव ने जिले के पहले निक्षय मित्र बनने की स्वीकृति दी है। साथ ही, उन्होंने अन्य सक्षम लोगों को इस दिशा में जागरूक करने का आश्वासन भी दिया है। उन्होंने कहा कि ऐसे नेक कार्य के लिए सक्षम लोगों को स्वयं आगे आकर टीबी मरीजों और विभाग की मदद करनी चाहिए। जिलाधिकारी अमन समीर के निर्देश पर जिला यक्ष्मा केंद्र को सक्षम लोगों, संगठनों व संस्थानों को निक्षय मित्र बनाने की जिम्मेदारी दी गई है। इसके लिए जिलाधिकारी ने संभावित लोगों की सूची भी सुपूर्द की है। जिसके आधार पर चिह्नित लोगों से संपर्क कर योजना के तहत उन्हें निक्षय मित्र बनने के लिए प्रेरित करेंगे। जिसके लिए जिला यक्ष्मा केंद्र सबसे पहले जनप्रति निधियों से संपर्क कर उन्हें योजना की जानकारी देगा और फिर निक्षय मित्र के लिए उनका रजिस्ट्रेशन किया जाएगा ।

मरीज की सहमति पर आधारित है निक्षय मित्र योजना

अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी सह सीडीओ डॉ. अनिल भट्ट ने बताया कि जिले को टीबी मुक्त बनाने की दिशा में यह सरकार की एक प्रयोगात्मक पहल है। जिसके माध्यम से निक्षय मित्र बनने वाले व्यक्ति या संस्थान मरीजों को पोषण, डायग्नोस्टिक और रोजगार के स्तर पर मदद करेंगे। इसमें सामान्य नागरिक, जनप्रतिनिधि, गैर सरकारी संस्थान और कॉर्पोरेट संस्थान भी अपनी भागीदारी निभा सकते हैं। उन्होंने बताया कि निक्षय मित्र योजना की पूरी प्रक्रिया मरीज की इच्छा और उसकी सहमति पर आधारित है। निक्षय मित्र योजना के तहत सामुदायिक सहयोग प्राप्त करने के लिए इच्छुक जिले के मरीजों से सहमति प्राप्त की जा रही है। मरीजों की सहमति प्राप्त करते हुए उनका डिटेल्स निक्षय पोर्टल पर अपलोड किया जा रहा है।

रजिस्ट्रेशन कर योजना से जुड़ सकते हैं निक्षय मित्र

इस याेजना से कोई भी जुड़कर निक्षय मित्र बन सकता है। निक्षय मित्र बनने के लिए सबसे पहले communitysupport.nikshay.in पर लॉगिन करना होगा। इसके बाद प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान पर क्लिक करें। फिर निक्षय मित्र रजिस्ट्रेशन फॉर्म पर रजिस्ट्रेशन कर इस अभियान से जुड़ सकते हैं। रजिस्ट्रेशन के बाद सुविधानुसार निक्षय सहायता के लिए टीबी रोगियों का चयन किया जा सकता है। प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान में टीबी की बीमारी से जुड़ी हर तरह की जानकारी के लिए निक्षय हेल्पलाइन नंबर 1800-11-6666 पर भी संपर्क कर सकते हैं। टीबी से संबंधित सारी जानकारी निक्षय हेल्पलाइन नंबर पर प्राप्त कर सकते हैं।

पोषण के स्तर पर मदद करेंगे निक्षय मित्र

एसटीएलएस कुमार गौरव ने बताया, निक्षय मित्र योजना एक तरह से टीबी रोग से पीड़ित लोगों को गोद लेने की योजना है। इस योजना के तहत कोई भी सामान्य नागरिक, जनप्रतिनिधि, राजनीतिक दल, गैर सरकारी संस्थान, कॉर्पोरेट संस्थान आदि टीबी के मरीज को गोद ले सकता है। इस अभियान के तहत व्यवस्था की गई है कि निक्षय मित्र बनने वाला व्यक्ति या संस्था कम से कम छह माह, नौ माह, एक वर्ष के लिए और अधिक से अधिक तीन साल के लिए किसी प्रखंड, पंचायत, गांव, वार्ड या जिले के किसी टीबी रोगी मरीज को गोद लेकर उन्हें भोजन, पोषण व आजीविका के स्तर पर जरूरी मदद उपलब्ध करा सकते हैं। लोग सामाजिक दायित्व के तहत निक्षय मित्र योजना से जुड़कर भारत को टीबी मुक्त करने में बड़ा योगदान दे सकते हैं।

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

संबंधित खबरें