मोतीहारी : फाईलेरिया से बचने के लिए डीईसी एवं अल्बेंडाजोल की गोलियों का करें सेवन – डॉ शर्मा

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

मोतिहारी। फाईलेरिया से बचने के लिए डीईसी एवं अल्बेंडाजोल की गोलियों का करें सेवन जरूरी है। फाइलेरिया के उन्मूलन के लिए सर्वजन दवा सेवन (एमडीए) अभियान की शुरुआत आगामी फरवरी माह की दस तारीख को किया जाएगा। सीएस डॉ अंजनी कुमार ने बताया कि फाइलेरिया को हाथीपांव रोग के नाम से भी जाना जाता है। इसके कारण शरीर के अंगों में सूजन आ जाती है। यह क्यूलेक्स नामक मच्छर के काटने से फैलता है।

आमतौर पर बचपन में होने वाला यह संक्रमण लसिका (लिम्फैटिक) प्रणाली को नुकसान पहुंचाता है। फाइलेरिया से जुड़ी विकलांगता जैसे लिफोइडिमा( पैरों में सूजन) एवं हाइड्रोसील(अंडकोश की थैली में सूजन) के कारण पीड़ित लोगों की आजीविका एवं काम करने की क्षमता प्रभावित होती है। इससे बचाव को डीईसी एवं अल्बेंडाजोल की गोलियां सरकार द्वारा समय-समय पर अभियान चलाकर नि:शुल्क खिलाई जाती है।

प्रचार प्रसार के साथ आशा व स्वास्थ्य कर्मियों की निगरानी में खिलाई जाएगी दवा

जिला वेक्टर रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ शरत चन्द्र शर्मा ने बताया कि फाइलेरिया जैसी गम्भीर बीमारी से जिले के लोगों को सुरक्षित रखने के लिए सभी प्रखंडों में प्रचार- प्रसार के साथ यह अभियान चलाई जाएगी। उन्होंने बताया कि एमडीए चक्र शुरू होने से पूर्व आशा व स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षित किया जाएगा।उसके बाद लोगों को डीईसी एवं अल्बेंडाजोल की गोलियां खिलाई जायेंगी।

उन्होंने बताया कि 2 से 5 वर्ष की उम्र तक के बच्चों को डीईसी की एक गोली एवं अल्बेंडाजोल की एक गोली,  6 से 14 वर्ष की आयु तक के बच्चों को डीईसी की दो गोली एवंअल्बेंडाजोल की एक गोली तथा 15 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को डीईसी की तीन गोली एवं अल्बेंडाजोल की एक गोली दी जाएगी। अल्बेंडाजोल का सेवन चबाकर किया जाना है। वहीँ उन्होंने बताया कि गर्भवती महिलाएं, अति गम्भीर बीमार और दो साल से कम उम्र के बच्चे को नहीं खिलाई जाएगी दवा।

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

spot_img

संबंधित खबरें