spot_img

सीतामढ़ी : तम्बाकू मुक्त होंगे जिले के सभी मतदान केंद्र 

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

सीतामढ़ी। नगरपालिका आम चुनाव 2022 में सभी मतदान केंद्रों एवं मतगणना केंद्रों को इंडियन टोबैको कंट्रोल लॉ ( कोटपा 2003 ) के प्रावधान के आलोक में तंबाकू मुक्त क्षेत्र घोषित करने का निर्देश दिया गया है एवं सभी मतदान केंद्रों एवं मतगणना केंद्रों के बाहर यह परिसर / भवन तंबाकू मुक्त है से संबंधित दीवार लेखन /साइनेज कराने का निर्देश दिया गया है उक्त निर्देश के आलोक में राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव मुकेश कुमार सिन्हा ने पत्र जारी कर जिलाधिकारी मनेश कुमार मीणा को दिया आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। तम्बाकू नियंत्रण कोषांक सीतामढ़ी के सभी मतदान केन्द्रों पर  तम्बाकू मुक्त परिसर का साइनेज लगाया गया है।

तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के नोडल पदाधिकारी डॉ सुनील कुमार सिन्हा  ने बताया कि राज्य निर्वाचन आयोग के आदेश का अनुपालन हमलोग कर रहे हैं और जिला के सभी मतदान केन्द्रों और मतगणना केन्द्रों पर तम्बाकू मुक्त परिसर का   साइनेज लगवाया जा रहा है अघिकांश जगहों लगाया जा चुका है। डॉ सुनील कुमार सिन्हा ने बताया कि अभी फिर करोना वायरस तिसरी लहर का खतरा है इस लिए और आवश्यक हो गया है कि स्वार्जनिक स्थानों पर तम्बाकू उत्पादों का सेवन न करें न ही स्वार्जनिक स्थानों थूकें यदि कोई व्यक्ति पकड़ा जाता है तो उसे दण्डित किया जाएगा।                      

सीड्स के कार्यक्रम पदाधिकारी मनोज कुमार झा ने बताया कि – “तंबाकू के सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, इस तथ्य से सभी वाकिफ हैं लेकिन फिर भी तंबाकू लत से बाहर नहीं आ पाते हैं. युवाओं को तंबाकू सेवन से जुड़े खतरों के बारे में जागरूक करने के लिए सामूहिक प्रयास की जरुरत है” हाल में प्रकाशित ग्लोबल यूथ टोबैको सर्वे के आंकड़ों में बिहार के युवाओं में 7.3% तंबाकू उत्पाद के प्रयोग के आंकड़े सामने आए हैं। विदित हो कि वर्ष 2019 में यह सर्वे बिहार के 38 जिला में की गई थी। जिसमें बिहार के 7.3 प्रतिशत छात्र तंबाकू उत्पाद प्रयोग करने की बात सामने आई है। जिसमें 6.6% लड़के और 8.0% लड़कियां तंबाकू उत्पाद का प्रयोग करती हैं।

विश्व में तंबाकू सेवन से हर वर्ष 80 लाख लोगों की मृत्यु

नोडल पदाधिकारी डॉक्टर सिन्हा ने  बताया, पूरे विश्व में हर वर्ष करीब 80 लाख लोग तंबाकू सेवन से जनित रोगों के कारण अपनी जान गंवाते हैं. देश में हर वर्ष 13 लाख मृत्यु का आंकड़ा तंबाकू सेवन के कारण है. उन्होंने बताया, स्वास्थ्य एवं शिक्षा विभाग को आपसी सामंजस्य से सभी शिक्षण संस्थानों में तंबाकू के दुष्प्रभाव को लेकर युवाओं में अलख जगाने की जरुरत है।

- Advertisement -

स्वास्थ्य विभाग करेगा पूरा सहयोग

डॉ सुनील कुमार सिन्हा ने बताया तंबाकू सेवन पर रोक लगाने एवं साथ ही तंबाकू से होने वाले विभिन्न प्रकार के कैंसर के बारे में वृहत पैमाने पर जन-जागरूकता फैलाने की जरुरत है. तंबाकू का दुष्प्रभाव सबसे अधिक स्कूली बच्चों एवं युवाओं पर पड़ रहा है। युवा वर्ग जनमानस में तंबाकू के दुष्प्रभावों के बारे में लोगों को जागरूक करने में अहम् भूमिका निभा सकते हैं. उन्होंने बताया विभाग पहले कुछ चयनित जिलों में तंबाकू उन्मूलन को लेकर अभियान चलायेगा।

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

संबंधित खबरें