बक्सर : जिले में संचालित टीबी नियंत्रण कार्यक्रम की ग्राउंड लेवल पर कमियों की होगी खोज

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

– 10 जुलाई से तीन दिनों तक जिले में राष्ट्रीय टीबी उन्मूलन कार्यक्रम की समीक्षा करेगी केंद्रीय टीम
– जिले में टीबी के मरीजों की नोटिफिकेशन की उपलब्धि लक्ष्य के विरुद्ध संतोष जनक

बक्सर | राष्ट्रीय टीबी नियंत्रण कार्यक्रम के तहत जिले में चल रहे कार्यक्रम और अभियानों की समीक्षा की जाएगी। इसके लिए आगामी 10 से 12 जुलाई तक जिले में भारत सरकार की एनएचएम अंतर्गत सेंट्रल टीवी डिवीजन दिल्ली और वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन की टीम प्रखंडों का जायजा लेगी। इस क्रम में गुरुवार को जिला टीबी कार्यालय में बैठक का आयोजन हुआ। जिसकी अध्यक्षता एसीएमओ सह सीडीओ डॉ. अनिल भट्ट ने की। बैठक में डब्लूएचओ, बिहार के डॉ. उमेश त्रिपाठी और डॉ. राजीव द्वारा जिले में टीबी उन्मूलन कार्यक्रम के सभी पारा मीटर पर प्रकाश डाला गया। इस दौरान टीबी नोटिफिकेशन, निक्षय पोषण योजना, आउटकॉम आदि का डाटा शेयर किया। डॉ. उमेश त्रिपाठी ने कहा कि बक्सर जिले में टीबी के मरीजों की नोटिफिकेशन की उपलब्धि लक्ष्य के विरुद्ध संतोष जनक है। इसे और भी बढ़ाना होगा। ताकि, जिले का प्रदर्शन सूबे में बेहतर हो सके।

टीबी नियंत्रण कार्यक्रम की कमी को तलाशा जाएगा :
डॉ. राजीव ने बताया, सरकार का लक्ष्य है कि देश का टीबी को 2025 तक हरहाल में मुक्त करना है। इसलिए केंद्रीय टीम समीक्षा के लिए आ रही है। जो जिले के तमाम प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का दौरा करेगी। इस दौरान ग्राउंड लेवल पर चलाए जा रहे कार्यक्रम की कमी को तलाशा जाएगा। टीबी कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के लिए क्या-क्या आवश्यकताएं हैं, इस बात का पता लगाएंगे और उसे कैसे दूर किया जा सके इस पर राज्यस्तरीय पदाधिकारी से चर्चा की जाएगी। समीक्षा के दौरान टीबी रोग की जांच, दवा की कमी की भी जांच की जाएगी। टीबी रोग से ग्रसित इलाजरत रोगी के घर पर उनसे बात करेंगे कि इलाज में कोई परेशानी तो नहीं है। अगर परेशानी है तो किस प्रकार की। उसके बाद रिपोर्ट राज्य यक्ष्मा पदाधिकारी को सौंपेंगे और और उस कमी को दूर करने रणनीति बनाई जाएगी।

जल्द मिलने लगेगी मरीजों को निश्चय पोषण योजना की राशि :
बैठक में एसीएमओ डॉ. अनिल भट्ट ने डब्लूएचओ की टीम को बताया कि सर्वर में टेक्निकल कारणों से विगत कुछ माह से मरीजों को निश्चय पोषण योजना की राशि का भुगतान बंद था। जिसको सुलझा लिया गया है। साथ ही, जिले में मरीजों की लिस्ट पोर्टल पर अपडेट कर ली गई है। एक दो दिनों में पोर्टल का सर्वर सुचारू रूप से काम करने लगेगा, जिसके बाद मरीजों के खाते में राशि जाने लगेगी। वहीं, जिले के सभी मरीजों से कंसेंट फॉर्म लेने का काम भी जल्द पूरा हो जाएगा। जिसके बाद पेशेंट ग्रुप बनाने का काम भी शुरू किया जाएगा। जो लोगों को टीबी के प्रति जागरूक करने में विभाग की मदद करेंगे। बैठक में यक्ष्मा विभाग के अधिकारी और कर्मी मौजूद रहे।

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

संबंधित खबरें