बक्सर : प्रशासनिक एवं अन्य पदाधिकारियों द्वारा पंचायतों का भ्रमण कर की गई योजनाओं की जाँच

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

बक्सर : मुख्य सचिव, बिहार सरकार के पत्रांक 407 दिनांक 07.04.2022 के द्वारा सरकार के महत्वपूर्ण कार्यक्रमों को त्वरित एवं प्रभावी ढंग से लागू करने, इनके सतत अनुश्रवण एवं राज्य में न्याय के साथ विकास को सुनिश्चित करने तथा प्रशासन को और अधिक संवदेनशील बनाने के उद्देश्य से विस्तृत दिशा-निर्देश निर्गत किया गया है। इस क्रम में दिनांक 23 जून 2022 को प्रशासनिक एवं अन्य पदाधिकारियों के द्वारा प्रातः 07:00 बजे से पंचायतों का भ्रमण कर योजनाओं की जाँच की गई। जाँच किए जाने वाली योजनाओं का नाम इस प्रकार से है :- हर घर नल का जल, घर तक पक्की गली नाली की योजनाएँ, उच्चतर माध्यमिक/माध्यमिक/प्राथमिक विद्यालय, सरकारी आवासीय विद्यालय/छात्रावास, आँगनबाड़ी केन्द्र, स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सा केन्द्र एवं विभिन्न स्तर से अस्पताल, लक्षित जन वितरण प्रणाली दुकानें, धान/गेहूँ/दलहन/अधिप्राप्ति केन्द्र, ग्रामीण सड़कों का निर्माण एवं अनुरक्षण, मनरेगा योजना, ग्रामीण आवास योजनाएँ, पंचायत सरकार भवन, समाज कल्याण की पेंशन योजनाएँ, भू-राजस्व एवं अन्य योजनाएँ।

उप विकास आयुक्त बक्सर के द्वारा बक्सर प्रखंड के महदह पंचायत में योजनाओं का जांच किया गया। जिला परिवहन पदाधिकारी बक्सर के द्वारा चौसा प्रखण्ड के बनारपुर पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जाँच किया गया। वरीय उपसामहर्ता बक्सर के द्वारा बक्सर प्रखण्ड के वरुना पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जाँच किया गया। भूमि सुधार उप समाहर्ता डुमराव के द्वारा डुमरांव प्रखंड के चिलहरी पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। भूमि सुधार उप समाहर्ता बक्सर के द्वारा बक्सर प्रखंड के खुटहां पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। वरीय उप समाहर्ता बक्सर के द्वारा राजपुर प्रखंड के अकबरपुर पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। वरीय उप समाहर्ता बक्सर के द्वारा चौसा प्रखंड के चुन्नी पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। अपर अनुमंडल पदाधिकारी बक्सर के द्वारा इटाढ़ी प्रखंड के इंदौर पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। उप निर्वाचन पदाधिकारी बक्सर के द्वारा डुमराव प्रखंड के कुशलपुर पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा कोषांग बक्सर के द्वारा डुमरांव प्रखंड के अरियांव पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। जिला प्रोग्राम पदाधिकारी आईसीडीएस बक्सर के द्वारा ब्रह्मपुर प्रखंड के योगियां पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी बक्सर के द्वारा चौगाई प्रखंड के मुरार पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया।

जिला सहकारिता पदाधिकारी बक्सर के द्वारा इटाढ़ी प्रखंड के अतरौना पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। प्रखंड विकास पदाधिकारी चौसा के द्वारा चौसा प्रखंड के सिकरौल पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। प्रखंड विकास पदाधिकारी राजपुर के द्वारा राजपुर प्रखंड के बन्नी पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। प्रखंड विकास पदाधिकारी इटाढ़ी के द्वारा इटाढ़ी प्रखंड के बसावकला पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। प्रखंड विकास पदाधिकारी डुमरांव के द्वारा डुमराव प्रखंड के मुंगाव पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। प्रखंड विकास पदाधिकारी सिमरी के द्वारा सिमरी प्रखंड के केशोपुर पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। प्रखंड विकास पदाधिकारी चक्की के द्वारा चक्की प्रखंड के जवही दियर पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। प्रखंड विकास पदाधिकारी ब्रह्मपुर के द्वारा ब्रह्मपुर प्रखंड के उतरी ननीजोर पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। प्रखंड विकास पदाधिकारी चौगाई के द्वारा चौगाईं प्रखण्ड के मशरिया पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। प्रखंड विकास पदाधिकारी केसठ के द्वारा नावानगर प्रखंड के सोनवर्षा पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। प्रखंड विकास पदाधिकारी ना वानगर के द्वारा ना वानगर प्रखंड के रूपसागर पंचायत में विभिन्न योजनाओं का जांच किया गया। इस प्रकार कुल 11 प्रखण्डों के 23 पंचायतों में अलग-अलग पदाधिकारियों के द्वारा विभिन्न योजनाओं की जाँच की गई है।

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

संबंधित खबरें