मांग पूरा नहीं हुआ तो आंदोलन और तेज करते हुए चरणबद्ध तरीके से नप कार्यालय का घेराव, छठिया पोखरा के ऐतिहासिक धरती पर महाधरना का आयोजन

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

डुमरांव. छठिया पोखरा के ऐतिहासिक धरती पर पूर्व वार्ड पार्षद सोनू राय के नेतृत्व में पूर्व से निर्धारित महाधरने का आयोजन पूरी तरह से सफल रहा. नगर के सभी सम्मानित पुरुष एवं महिलाएं अपने दुख दर्द एवं पीड़ा को लेकर महाधरना में सम्मिलित हुए. लोगों ने अपनी पीड़ा बताते हुए हर घर नल का जल योजना की पोल खोल कर रख दिया. जिसमें महिलाओं ने बताया कि सप्ताह दिन पर ही चार चार दिनों के लिए मोटर खराब रहता है और पानी चलता भी है तो हमारे घरों में गिरता नहीं है. एक साल से यही रवैया बना हुवा है.

वही आवास योजना के लाभार्थियों के द्वारा अपना दर्द बताया गया नगर परिषद से पूर्व में आंदोलन करने के बाद कार्य देश तो मिला तथा पहली किस्त की राशि तो मिली पर छः महीने से ऊपर का समय बीत जाने के बाद भी आज तक दूसरी और तीसरी किस्त की राशि नहीं प्राप्त हो पाई है. हम लोग रोज-रोज कार्यालय का चक्कर लगाकर हार थक गए है. वही वक्ताओं ने कहा कि नगर परिषद क्षेत्र के डुमराँव शहर में लगी हुई अधिकांश लाइटें या तो खुल गई है या बंद पड़ी है. जिसका सुध लेने वाला कोई नहीं.

साल में कई बार लाइट मरम्मती के नाम पर राशि तो निकाल ली जाती है पर लाइटों को ठीक नहीं किया जाता है. वही साफ-सफाई के मुद्दे पर पूर्व वार्ड पार्षद सोनू राय सहित शहर के अन्य गणमान्य लोगों ने साफ सफाई की पोल खोल कर रख दी. लोगों ने बताया किस प्रकार से उनके वार्डो का कूड़ा करकट का रोज उठाव नहीं होता है. उनके नालियों की सफाई रोज नहीं की जाती है और नाही चुनाव ब्लीचिंग का छिड़काव भी ठीक से नहीं किया जाता है. वक्ताओं ने नगर परिषद में व्याप्त आकंठ लूटपाट भ्रष्टाचार पर भी अपना रोष प्रकट किया और जिस प्रकार से साल भर से नगर परिषद कार्यालय में मनमानी किया जा रहा है.

उस पर भी रोक लगाने हेतु बिहार राज्य के आला अधिकारियों सहित जिले के अधिकारी से अपनी मांग को मजबूती से रख लोगों ने कहा कि अगर हमारी मांगों को मार्च महीने में पूरा नहीं किया जाता है। तो फिर हम अगले माह अप्रैल से इस आंदोलन को और तेज करते हुए चरणबद्ध तरीके से नगर परिषद कार्यालय का घेराव करेंगे मुख्य वक्ताओं में पूर्व वार्ड पार्षद सोनू राय सहित शहीद समिति के अध्यक्ष संजय चंद्रवंशी, महेंद्र यादव, पवन कुमार, बबन खरवार, दीपक यादव,राजीव रंजन सिंह, संटू मित्रा, गुलाम सरवर, सहित अधिकांश महिलाओं ने भी अपने बातों को मजबूती के साथ रखा।

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

spot_img

संबंधित खबरें