spot_img

डुमरांव : बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ जिला शाखा बक्सर का 9वां जिला सम्मेलन आयोजित

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

डुमरांव. बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ जिला शाखा बक्सर का 9वां जिला सम्मेलन रविवार को का. कृष्णा प्रसाद, मंच का. मो. कलाम सभागार नगर भवन नगर परिषद समिति में आयोजित किया गया. सर्वप्रथम जिला महासंघ के सचिव महेंद्र प्रसाद द्वारा शहीद वेदी पर झंडा तोलन किया गया. इसके पश्चात उपस्थित सभी लोगों द्वारा शहीद बदी पर बारी-बारी से पुष्पांजलि अर्पित कर हाल ही में दिवंगत हुए महासंघ के पूर्व जिला सचिव का. मो. कलाम व का. कृष्णा प्रसाद सहित तमाम शहीदों को दो मिनट का मौन धारण कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई तथा शहीदों तेरे अरमानों को मंजिल तक पहुंचाएंगे के गगनभेदी नारों के साथ सम्मेलन की कार्यवाही प्रारंभ की गई.

सम्मेलन की कार्यवाही संचालित करने के लिए दो सदस्य अध्यक्ष मंडल लव कुश महेंद्र प्रसाद का मनोनयन सदन द्वारा किया गया. सम्मेलन का विधिवत उद्घाटन महासंघ गोप गुट के राज्याध्यक्ष जियालाल प्रसाद, राज्य सचिव उमेश कुमार सुमन, राज्य कोषाध्यक्ष शत्रुधन प्रसाद सिंह, ग्रामीण कार्य विभाग कर्मचारी संघ के राज्य महासचिव सूर्यवंशी सिंह, विधायक अजीत कुमार सिंह, अनुमंडल पदाधिकारी कुमार पंकज, अनुमंडल लोक शिकायत पदाधिकारी धनंजय त्रिपाठी, प्रखंड विकास पदाधिकारी संतोष कुमार सिंह व भाकपा माले के जिला सचिव नवीन कुमार द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया गया.

सम्मेलन के खुला सत्र का उद्घाटन महासंघ गोप गुट के राज्याध्यक्ष जियालाल प्रसाद ने किया. अपने संबोधन में उन्होंने कहां कि केंद्र सरकार द्वारा हम श्रमिकों का बड़े पैमाने पर शोषण किया जा रहा है. देश के तमाम उपकर्म सार्वजनिक कंपनियों को निजी हाथों में सौंपा जा रहा है. कार्यालयों के अस्थाई पदों को समाप्त किया जा रहा है. आउटसोर्सिंग संविदा मानदेय प्रोत्साहन राशि पर बहाली की जा रही है. बेरोजगारी अपने चरम पर हैं, लोगों को रोजगार नहीं मिल रहा है. महंगाई ने हमारी कमर तोड़ दी है. हमारे हक में पूर्व से बने कानूनों को खत्म कर मोदी सरकार ने हमारी गुलामी के कोड बनाया है. असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिए तरस रहे हैं.

बड़े पैमाने पर स्किन वर्करों को न्यूनतम मजदूरी से काफी कम भुगतान किया जा रहा है. देश का हर पक्का परेशान है. संविधान और लोकतंत्र की रक्षा के लिए इस सरकार को उखाड़ फेंकने की जवाबदेही हम लोगों को उठाने होगी. उपस्थित मुख्य अतिथि विधायक डा. अजीत कुमार सिंह ने अपने संबोधन में कहां कि शिक्षक, कर्मचारी सहित गरीब मजदूर किसानों के सभी समस्याओं को सदन में पूरजोर ढंग से रखने पर बल दिया. साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार के द्वारा श्रम अधिकारी को वापस, पुराना पेंशन लागू करने, संविदा, ठेका प्रथा बंद करने और रिक्त पदों पर स्थाई बहाली करने सहित नई शिक्षा नीति पर भी बातें रखीं.

- Advertisement -

अन्य वक्ताओं ने संगठन को मजबूती अनुकंपा लाभ पदसोपान विभागीय प्रोन्नति पर विस्तार से बातें रखीं. केंद्र सरकार और राज्य सरकार के कर्मचारी विरोधी नीति पर भी विस्तारित रूप से रखा गया. खुला सत्र को शत्रुघ्न प्रसाद, राज्य कोषाध्यक्ष महासंघ बिहार सूर्यवंशी सिंह महासचिव नवीन जी माले सचिव रामानंद सिंह रवानी जी ओम जी रामनिवास सराय सुखाराम हाजी मोहम्मद जाकिर हुसैन रा जयेश कुमार अनिता यादव शिक्षिका सहित अन्य ट्रेड यूनियन संघ महासंघ के साथी ने संबोधित किया.

प्रतिनिधि सत्र का उद्घाटन उमेश कुमार सुमन राज्य सचिव कर्मचारी महासंघ ने अपने संबोधन में केंद्र सरकार राज सरकार के यहां लंबित समस्याओं पर विस्तार से बातें रखी साथी अनुबंध मानदेय संविदा कर्मियों के नियमित का स्थाई नियुक्ति एवं पुराना पेंशन लागू करने को लेकर विभाग बिहार सरकार द्वारा आंदोलन के बाद पूरे बिहार में आंदोलन के रखी और सम्मेलन की सफलता की शुभकामनाएं देते हुए अफसरशाही पर भी बातें रखीं.

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

संबंधित खबरें