फिल्मों में भी वही सात सूर होते हैं, जो भजन में होते हैं। आठवां सूर तो होता नहीं : अनुराधा पौडवाल 

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

बक्सर : सनातन संस्कृति समागम के सांस्कृतिक कार्यक्रम के तीसरे दिन पदम श्री अनुराधा पौडवाल में कार्यक्रम की शुरुआत भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो न प्रचोदयात् से की। इसके बाद सत्यम शिवम सुंदरम की प्रस्तुति देकर खचाखच भरे अहिरौली की अहिल्या धाम में उमड़ी दर्शकों को तालियां बजाने को विवश कर दिया। इस गाने के माध्यम से उन्होंने रामलला का दिव्य दर्शन श्रोताओं को कराया। भारतीय फिल्मों में कई हिट गाने गा चुके अनुराधा पौडवाल ने अपने देश भक्ति और भजन गीतों से दर्शकों को झूमने को मजबूर कर दिया। इनके गाना से साधु संत भी मंत्रमुग्ध हो गए उन्होंने मन मेरा मंदिर शिव मेरी पूजा तूने मुझे बुलाया पायोजी मैंने राम रतन धन पायो गाना गाकर दर्शकों का मन मोह लिया। अनुराधा पौडवाल ने बक्सर की धरती को धन्य बताते हुए प्रणाम कि कार्यक्रम का संचालन स्वीट एंड रवि रंजन ने की।

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

संबंधित खबरें