निर्वाचन एवं आपदा से संबंधित कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता देकर ससमय करें निष्पादित : जिलाधिकारी

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कार्यसंस्कृति को लेकर बैठक

सारण, छपरा। जिलाधिकारी अमन समीर की अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार में आज कार्यसंस्कृति को लेकर बैठक आहुत की गई। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी संबंधित पदाधिकारी निर्वाचन एवं आपदा से संबंधित सभी कार्यों का निष्पादन सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुये करें।

लोकसभा आम चुनाव के संदर्भ में सभी सहायक निर्वाची पदाधिकारी को फॉर्म 6 एवं 8 के सभी लंबित आवेदनों को निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत नियमानुसार निष्पादित करने को कहा गया। सभी एआरओ को प्रतिदिन स्वयं लॉगिन करके लंबित आवेदनों का निष्पादन सुनिश्चित कराने को कहा गया।ऑनलाइन प्राप्त शिकायतों का निष्पादन सभी एआरओ प्रतिदिन सुनिश्चित करेंगे।

निर्वाचन आयोग के निदेशानुसार 50 प्रतिशत मतदान केंद्रों पर लाइव वेबकास्टिंग कराया जाना है। इसमें सभी क्रिटिकल मतदान केंद्रों को शामिल किया जाना है। सभी एआरओ एवं एईआरओ को निर्धारित मानक के अनुरूप लाइव वेबकास्टिंग हेतु मतदानकेन्द्र की सूची उपलब्ध कराने को कहा गया। प्रत्येक मतदान केंद्र पर मतदान दल के जाने एवं वापस आने के लिये स्पष्ट रूट प्लान 5 अप्रैल तक उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया।

- Advertisement -

मढ़ौरा एवं छपरा में मतदान दल के डिस्पैच को लेकर निर्धारित दिनों के लिये स्पष्ट एवं कारगर ट्रैफिक प्लान बनाने का निदेश संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी को दिया गया। निर्धारित ट्रैफिक प्लान का व्यापक प्रचार प्रसार सुनिश्चित करने को कहा गया ताकि यातायात व्यवस्था सुगम बनी रहे।

निर्वाचन कार्य हेतू आये हुये एवं आने वाले अर्धसैनिक बलों के आवासन स्थल पर सभी आवश्यक सुविधा बहाल रहे, इसे सुनिश्चित रखने का निदेश कोषांग के नोडल पदाधिकारी को दिया गया। अर्धसैनिक बल की कंपनियों के कमांडर के साथ निरंतर समन्वय स्थापित रखने को कहा गया। सभी चेक नाका पर चेकिंग किये जाने वाले वाहनों की सूची पंजी में संधारित करने को कहा गया।

आपदा प्रबंधन के संदर्भ में सभी वर्षा मापक यंत्रों को क्रियाशील रखने एवं दैनिक प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निदेश जिला सांख्यिकी पदाधिकारी को दिया गया। सभी बांध एवं तटबंधों का भौतिक निरीक्षण करने का निदेश सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को दिया गया। बाढ़/कटाव निरोधी सभी कार्यों को 15 मई तक निश्चित रूप से पूर्ण करने को कहा गया।सभी संभावित बाढ़ प्रभावित परिवारों की सूची को आपदा सम्पूर्ति पोर्टल पर अपडेट करने का निदेश सभी अंचलाधिकारियों को दिया गया।

चापाकलों की मरम्मती के प्रगति की प्रतिदिन समीक्षा सुनिश्चित करने का निदेश कार्यपालक अभियंता पीएचईडी को दिया गया। नल जल योजना के संदर्भ में कार्यपालक अभियंता पीएचईडी द्वारा बताया गया कि मरम्मती कार्य हेतु लगभग सभी पंचायतों में एजेंसी/संवेदक प्राधिकृत है।जिलाधिकारी ने सभी संवेदकों की सूची उपलब्ध कराने को कहा।

अगलगी की घटना को लेकर सभी अंचलाधिकारियों को अलर्ट रहने को कहा गया। उन्हें सूचना प्राप्त होने के अधिकतम 2 घंटे के अंतर्गत स्वयं घटना स्थल पर पहुंचने का स्पष्ट निदेश दिया गया। पीड़ित परिवार को तत्काल देय अनुदान का भुगतान सुनिश्चित करने को कहा गया। आवश्यक होने पर अस्थाई सामुदायिक किचेन चलाने को कहा गया।

पशु चारा के लिये दर एवं आपूर्तिकर्त्ता का निर्धारण निविदा के माध्यम से सुनिश्चित करने को कहा गया। आवश्यक मानव एवं पशु दवा की ससमय पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित रखने का निदेश दिया गया। सभी स्थानीय प्रशिक्षित गोताखोरों की अद्यतन सूची सभी अंचलों में उपलब्ध रखने को कहा गया।

बैठक में उपविकास आयुक्त, नगर आयुक्त, अपर समाहर्त्ता, अपर समाहर्त्ता लोकशिकायत, उपनिर्वाचन पदाधिकारी, विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय तकनीकी एवं गैर तकनीकी पदाधिकारी तथा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी अनुमंडल पदाधिकारी, भूमि सुधार उपसमाहर्त्ता, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी आदि उपस्थित थे।

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

संबंधित खबरें