नवाडेरा छठिया पोखरा के जमीन अतिक्रमण के विरोध में ग्रामीणों ने दिया धरना, सीओ के आश्वासन पर हुआ समाप्त

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

डुमरांव. नगर परिषद क्षेत्र के फोर लेन व एनएच 84 बीच अवस्थित नवाडेरा छठिया पोखरा अतिक्रमण करने के विरोध में गांव के लोगों ने इस हाड़ कपा देने वाली ठंड व कुहासे के बीच धरना प्रदर्शन किया. लगभग 12 बजे धरना स्थल पर पहुंच सीओ अंकिता कुमारी ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि अतिक्रमण करने वाले गलत है तो कारवाई जरूर होगी.

धरना प्रदर्शन की अध्यक्षता कर रहें राजेश कुमार उर्फ सोनू यादव ने कहां कि यह 200 वर्ष पुराना छठिया पोखरा को स्थानीय लोगों तथा कुछ अज्ञात भू माफियाओं द्वारा पोखरा किनारे की जमीन को जेसीबी मशीन चलाकर जमीन 29 दिसंबर को समतल व किनारे किनारे भरा जा रहा था, जिससे स्पष्ट होता है कि पोखरा की जमीन अतिक्रमण करने की कोशिश की जा रही थी. 30 दिसंबर को ग्रामीणों की उपस्थिति में सोनू यादव द्वारा नया भोजपुर को सूचना देकर जेसीबी मशीन से हो रहे कार्य को रुकवाया गया.

उसके बाद 2 जनवरी 2023 सोमवार को ग्रामीणों द्वारा शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन किया गया. ग्रामीणों द्वारा यह निर्णय लिया गया कि गांव के अमूल्य धरोहर को छठिया पोखरा को किसी का दखल व कब्जा या अतिक्रमण नहीं होने दिया जाएगा. उपस्थित ग्रामीणों ने बताया कि यह पोखरा बहुत पुराना है, जहां लोक आस्था का महापर्व के साथ गांव में किसी के मृत्यु होने पर घंट पोखरा के पीपल के पास टंगाने के साथ दशकर्म तक होते चला रहा है.

गांव के कुछ लोगों द्वारा पोखरा की जमीन पर अपना हक जमा रहें है. ग्रामीणों ने सीओ से कागज दिखाने वाले की कागजात जांच करते हुए कारवाई की मांग की. मौके पर ग्रामीणों में अमरेंद्र कुमार, राजनाथ, दीपक यादव, इस्लाम अंसारी, प्रभुनाथ सिंह, श्याम लाल सिंह, हरेराम सिंह, अमरिंदर सिंह, श्रीनिवास यादव, राजनाथ सिंह, राजेश कुमार, अशोक यादव सहित सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित रहें.

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

spot_img

संबंधित खबरें