डुमरांव और नवानगर प्रखंड के जनप्रतिनिधियों सरपंच का किया गया उन्मुखीकरण

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

मिशन परिवार विकास अभियान व परिवार नियोजन की सेवाओं की दी गई जानकारी

डुमरांव. जिले में जनसंख्या स्थिरीकरण के उद्देश्य को हासिल करने के लिए स्वास्थ्य विभाग कई रणनीतियों पर काम कर रहा है. जिले में मिशन परिवार विकास (एमपीवी) अभियान को गति देने के लिए अब जनप्रतिनिधियों को भी इस इसमें शामिल किया जाएगा. ताकि, वो अपने पंचायत स्तर के लोगों को जागरूक कर परिवार नियोजन के अस्थायी साधनों के साथ-साथ स्थायी साधनों के प्रयोग में इजाफा कराया जा सके.

इसके लिए स्वास्थ्य विभाग और सेंटर फॉर कैटालाइजिंग चेंज (सी थ्री) के संयुक्त तत्वावधान में जनप्रतिनिधियों का उन्मुखीकरण किया जा रहा है. इस क्रम में नवानगर एवं डुमरांव के विभिन्न पंचायतों के सरपंचों को प्रशिक्षित किया गया. मिशन परिवार विकास (एमपीवी) अभियान से समुदायों के साथ जुड़ने के लिए ढांचा प्रदान करता है. उन्मुखीकरण के माध्यम से पंचायती राज प्रतिनिधि एमपीवी के लिए आउटरीच गतिविधियों का समर्थन करने में सक्षम होंगे. ताकि युवाओं, नवविवाहित जोड़ों और एक बच्चें वाले जोड़ों को अन्तराल गर्भनिरोधक का उपयोग करने में सक्षम बनाया जा सके.

अनुश्रवण एवं जागरूकता हेतु पंचायत प्रतिनिधियों की भूमिका को अहम 

डीसीएम हिमांशु सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत समुदाय आधारित अनुश्रवण एवं जागरूकता हेतु पंचायत प्रतिनिधियों की भूमिका को अहम माना गया है. जिसको देखते हुए जनप्रतिनिधियों के माध्यम से पंचायतों में केंद्र एवं राज्य सरकार की सभी कल्याणकारी योजनाओं का सफल क्रियान्वयन कराया जाना है. साथ ही मिशन परिवार विकास अभियान में जनप्रतिनिधियों को भी शामिल किया जा रहा है.

जिससे ग्राम पंचायतों में एनएचएम के कार्यों की निगरानी, संरक्षण एवं ग्राम स्वास्थ्य समिति/ ग्राम सभा के माध्यम से समुदाय को जागरूक किया जा सके एवं लोगों को सुगमता के साथ स्वास्थ्य सुविधा दिलाई जा सके. साथ ही, वो क्षेत्रों में लोगों को स्वास्थ्य केंद्रों पर मिलने वाली सुविधाओं के बारे में बताएंगे, ताकि लोगों को स्वास्थ्य योजनाओं की जानकारी मिल सके.

- Advertisement -

पुरुषों का जागरूक होना सबसे जरूरी 

जिला स्वास्थ्य समिति के संतोष कुमार ने बताया कि आज परिवार नियोजन के साधानों (स्थायी व अस्थायी) के प्रति लोगों में काफी जानकारी बढ़ी है. जिसमें पुरुषों और महिलाओं में अस्थायी साधानों के इस्तेमाल की संख्या बढ़ी है. लेकिन अभी भी जब नियाेजन के स्थायी साधानों के इस्तेमाल की बारी आती है, तब परिजन महिलाओं को आगे कर देते हैं. जो कहीं से न्याय संगत नहीं है.

परिवार के सभी चीजों में पुरुषों और महिलाओं को कंधे से कंधा मिलाकर चलना होगा. तभी परिवार खुशहाल बनेगा. वहीं, डा विकास कुमार ने कहां कि आज पुरुषों को चाहिए कि वो महिलाओं के बंध्याकरण को रोकते हुए स्वयं नसबंदी के लिए आगे आएं. इससे महिलाओं का स्वास्थ्य भी बेहतर रहेगा. क्योंकि नसबंदी की अपेक्षा महिलाओं का बंध्याकरण 20 गुणा जटिल होता है और इसमें महिलाओं को कभी-कभी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. 

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से संबंधित सभी कार्यक्रमों के बारे में विस्तार से चर्चा 

इसलिए जनप्रतिनिधियों के माध्यम से लोगों को जागरूक कराया जाएगा. अनुमंडल अस्पताल के सभागार में शुक्रवार की बैठक में चर्चा इस संदर्भ में हुई है की किस प्रकार से स्वास्थ्य सेवाओं को पंचायत प्रतिनिधियों के सहयोग से प्रभावी तरीके से क्षेत्र स्तर पर उतर जा सकता है.

त्रिस्तरीय पंचायती राज से पंचायत प्रतिनिधियों को अवगत कराया गया, और उसके बाद राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से संबंधित सभी कार्यक्रमों के बारे में विस्तार से चर्चा करते हुए आशा एएनएम को इत्यादि ग्रासरूट लेवल के सभी वर्कर्स की भूमिका पर चर्चा की गई. और इन सभी कार्यक्रमों के संबंध में स्थानीय स्तर पर पंचायत प्रतिनिधियों से सहयोग की अपेक्षा की गई.

बाल ह्रदय योजना एवं पोषण तथा पुनर्वास केंद्र पर भी चर्चा 

विशेष कर स्वास्थ्य सेवाओं के संबंध में स्थानीय जनमानस में जो भ्रांतियां हैं, उन भ्रांतियां को दूर करने में पंचायत प्रतिनिधियों की भूमिका अति महत्वपूर्ण है. इस संबंध में पुरुष नसबंदी से जुड़े मुद्दे पर, एनीमिया मुक्त भारत से संबंधित मुद्दे पर, लक्ष्मण और कुष्ठ से संबंधित मुद्दे पर, पीएम एसएमए पर विस्तार से बैठक में चर्चा की गई,

बाल ह्रदय योजना एवं पोषण तथा पुनर्वास केंद्र पर भी चर्चा हुई. मौके पर डीसीएम हिमांशु सिंह, संतोष कुमार व आरबीएसके के डीसी विकास कुमार के अलावा प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक अफरोज आलम, बीसीएम मो. तस्लीम, बीसीएम अक्षय पासवान तथा नवानगर एवं डुमरांव के सभी पंचायतों के सरपंच भी मौजूद रहे.

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

संबंधित खबरें