जिसको ईश्वर से सत्संग है, उसको जीवन में आनंद ही आनंद है : आनंद स्वामी

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

डुमरांव. नगर के मच्छरहट्टा गली स्थित सभागार में शुक्रवार को भागलपुर से चलकर आए अनंत श्री विभूषित संत सद्गुरु महर्षि मेंही परमहंस जी महाराज कृपा के पात्र बाबा आनंद स्वामी का प्रवचन हुआ. इसमें आए श्रद्धालुओं को प्रसाद भी ग्रहण कराया गया तथा अन्य भक्तों गणों के लिए भंडारा का व्यवस्था था. महर्षि मेंही के अनन्य कृपा पात्र श्री आनंद स्वामी जी ने कहां कि जिसको ईश्वर से सत्संग है, उसको जीवन में आनंद ही आनंद है. जो सत्य है उसे कहां नहीं जा सकता, उसको केवल मात्र अनुभव किया जा सकता है.

हमारा वेद बहुजन हिताय, बहुजन सुखाय का संदेश देता है. सत्संग से ही जन्म जन्मांतर तक सुख प्राप्त किया जा सकता है. अर्थात सेवा भाव से कथा में यन ऋषि ने सिकंदर को सुख पाने का रास्ता बताया. जीव पर दया करना विलासिता के जीवन से मुक्त होना. वही रजनीश बाबा ने कहां कि तत्वज्ञान को जानना है, तो सत्संग करें. उन्होंने रामायण, गीता वेदों के उदाहरण को लेकर भक्त प्रेमियों को तत्वज्ञान के बारे में बताया.

सत्यार्थी बाबा ने भजन भक्तजनों का भक्तिमय वातावरण पैदा कर दिया. प्रखंड के आसपास के गांवों से लगभग सैकडों की संख्या में नर नारी उपस्थित रहंे. सेवा में लगे सुधीर कुमार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, दीपक सोनी, पिंटू वर्मा, कृषि कालेज के वैज्ञानिक विनोद कुमार सिंह, रघुवर सिंह, सुनील सिद्धार्थ, संजय केसरी, कन्हैया गुप्ता सहित मुहल्लेवासियों सहयोग सरानीय रहा. 

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

spot_img

संबंधित खबरें