चारदिवसीय प्रशिक्षण में शिक्षक-शिक्षिकाओं ने चाइल्ड प्रोफाइल कैसे बनाया जाए पर हुई चर्चा

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

डुमरांव. एनआरएसटी के तहत प्रशिक्षण के दूसरे दिन शुक्रवार को प्रखंड संसाधन केंद्र में प्रयास केंद्र के नाम से जो प्रशिक्षण चल रहा है, उसमें पूर्व के दिनों के प्रतिवेदन एवं प्रेरक प्रसंग के साथ दूसरे दिन का शुभारंभ किया गया. राष्ट्रीय गीत के तत्पश्चात प्रशिक्षण अपने मूल रूप में प्रारंभ किया गया. जिसमें सर्वप्रथम चाइल्ड प्रोफाइल कैसे बनाया जाए पर चर्चा की गई. प्रत्येक बच्चा जो प्रयास केंद्र में आएगा. उसके सभी के बारे में की सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक स्थिति, घर का परिवेश आदि चीजें बच्चें के प्रोफाइल में भरी जाएंगी.

उसके बाद समावेशी शिक्षा पर चर्चा की गई. समावेशी शिक्षा अर्थात बच्चों में किसी प्रकार का भेदभाव ना करते हुए लिंग, जाति, आधार एवं शारीरिक बनावट के आधार पर किसी प्रकार का भेदभाव न किया जाए. एक समान शिक्षा सबको उपलब्ध कराई जाए. तत्पश्चात विशेष प्रशिक्षण केंद्र का संचालन कैसे किया जाए. इस पर विस्तार से चर्चा जिला से आए एपीओ तेज बहादुर एवं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी सुरेश प्रसाद द्वारा विस्तार से बताया गया.

प्रशिक्षक के रूप में शैलेंद्र पांडे एवं किशन राय ने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. कार्यक्रम का समापन बीपी के ताली एवं राष्ट्रीय गीत के साथ किया गया. कार्यक्रम बेहतर ढंग से केंद्र पर कैसे संचालित हो एवं अधिक से अधिक बच्चों को उसका लाभ कैसे मिल सके. इस पर प्रकाश डाला गया. प्रतिभागियों में अनीता यादव, शशि भूषण उपाध्याय, गुड्डू राय, सुनीता यादव सहित अन्य शिक्षक-शिक्षिकाएं उपस्थित रहें.

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

संबंधित खबरें