कोविशील्ड और कोवैक्सीन की प्रीकाॅशनरी डोज के रूप में ले सकते हैं कोर्बेवैक्स की डोज

यह भी पढ़ें

- Advertisement -

बक्सर, 03 नवंबर | जिले के ऐसे लोग जिन्होंने कोरोना वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज ले ली है। लेकिन, तीसरी डोज की अवधि पूरी हो जाने के बाद भी नहीं टीका नहीं लिया है, उनके लिए अच्छी खबर है। अब तीसरी डोज के रूप में वो आरबीडी प्रोटीन सबयूनिट ‘कॉर्बेवैक्स’ टीके की डोज ले सकते हैं। इसके लिए जिला स्वास्थ्य समिति ने भी लोगों को जागरूक करना शुरू कर दिया है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी के निर्देश पर सभी प्रखंडों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों ने अपने अपने स्तर से सभी फ्रंट लाइन वर्कर्स को जिम्मेदारी दी है। ताकि, लोगों को इस संबंध में जागरूक कर उन्हें प्रीकॉशरी डोज के रूप में ‘कॉर्बेवैक्स’ टीके की डोज लेने के लिए प्रेरित किया जा सके। केंद्र सरकार के द्वारा इसके लिए पूर्व में ही गाइड लाइन्स जारी कर दिया गया है। जिसके तहत 18 साल से अधिक उम्र के उन लोगों को ‘कॉर्बेवैक्स’ टीके की प्रीकॉशनरी डोज दी जा सकती है, जो कोविशील्ड या कोवैक्सीन टीके की दो खुराक ले चुके हैं।

कोविशील्ड व कोवैक्सीन के गाइडलाइंस में कोई बदलाव नहीं

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. राज किशोर सिंह ने बताया, फिलवक्त आरबीडी प्रोटीन सबयूनिट ‘कॉर्बेवैक्स’ टीके की डोज फिलहाल 12 से 14 वर्ष की आयु के बच्चों को ही लगाई जा रही है। 18 साल से अधिक उम्र के जिन लोगों को कोवैक्सीन या कोविशील्ड की दूसरी खुराक लिए छह महीने या 26 सप्ताह हो गए हैं, उनके लिए कॉर्बेवैक्स एहतियाती खुराक के तौर पर उपलब्ध होगा। इससे इस उम्र वर्ग में एहतियाती खुराक के तौर पर कॉर्बेवैक्स का कोविड-19 के दूसरे टीके के तौर पर उपयोग हो पाएगा। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी ने बताया कि कोवैक्सीन और कोविशील्ड की तीसरी खुराक के संबंध में वर्तमान दिशानिर्देशों में कोई बदलाव नहीं किया गया है। सरकार के इस फैसले से कोविड-19 के खिलाफ जिला समेत पूरे राज्य की लड़ाई और मजबूत होगी।

कोरोना मुक्त अभियान में सभी अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें

‘सभी लोग नियत समय पर कोरोना टीके की सभी डोज अनिवार्य रूप से लें। सभी को तत्परता दिखाते हुए नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र या टीकाकरण स्थल पर जाकर टीकाकरण से वंचित होने वाले लाभार्थी खुद या अपने परिवार के अन्य सदस्यों को कोविड-19 टीकाकरण की डोज दिलवाएं। ताकि, भविष्य में कोरोना के संक्रमण प्रसार की संभावना न रहे। साथ ही, इससे जिले को कोरोना मुक्त अभियान करने की दिशा में हम सभी की भागीदारी सुनिश्चित हो सके । कोरोना के संक्रमण से आने वाली पीढ़ियों को सुरक्षित रखने के लिए हम सभी को कोविड टीके की सभी डोज अपने निर्धारित समय पर लेना होगा। वहीं, अब जिले के लोग प्रीकॉशनरी डोज के रूप में कॉर्बेवैक्स की डोज ले सकते हैं।’ – डॉ. जितेंद्र नाथ, सिविल सर्जन, बक्सर

- Advertisement -

विज्ञापन और पोर्टल को सहयोग करने के लिए इसका उपयोग करें

spot_img
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

विज्ञापन

spot_img

संबंधित खबरें